Online Shopping In India, बढ़ती ऑनलाइन शॉपिंग, Benefits of online shopping, Loss of online shopping, Digital online Shopping, Online Fraud

आज जमाना डिजिटल का है। भारत की पूरी व्यवस्था डिजिटल व्यवस्था पर आधारित होती जा रही है। पहले हमारे देश में कम्प्यूटर क्रांति के तहत अनेकों व्यवस्थाओं का संचालन कम्प्यूटर पर आधारित हुई और अब उन सभी का डिजिटलाइजेशन होता जा रहा है।वर्तमान में लोग घर के गैस सिलंडर, बैकिंग प्रक्रियाएं, आपसी लेन-देन, शॉपिंग आदि सभी के लिए मोबाइल या कम्प्यूटर का इस्तेमाल करते हैं।जब किसी कंपनी की नई फोन बाजार में बिक्री के लिए आती है तो प्रायः लोग यह सोचते हैं कि बाजार जाकर दुकान में मोलभाव करने में समय की बर्बादी क्यों करें। लोग तुरंत अपने मोबाइल या कम्प्यूटर पर ही एप्प द्वारा फोन खरीद लेते हैं या अन्य सामानों की शॉपिंग करते हैं। गांवों में तो लोग अभी डिटिजल दुनिया से थोड़े दूर हैं, लेकिन शहरों में सभी लोग कपडे-गहने, जूते-चप्पल, किचन का सामान, होटल बुकिंग, टूर बुकिंग या अन्य कोई भी वस्तु डिजिटल माध्यम से ही खरीदना चाहते हैं।देखा और समझा जाए तो डिजिटल की दुनिया काफी आसान है, लेकिन दूसरी तरफ इससे काफी नुकसान भी हो सकते हैं।

कम कीमत के प्रोडक्ट, घर बैठे पाने जैसी सुविधा, अच्छी गुणवत्ता एवं कई विकल्प होने के कारण लोगों को ऑनलाइन शॉपिंग का ऐसी आदत लग चुकी है कि अधिकतर लोग अक्सर घर बैठे ऑनलाइन ऑर्डर कर देते हैं। खरीदार बनने की होड़ के कारण प्रायः लोगों को आर्थिक रूप से नुकसान भी उठाना पड़ जाता है। इसलिए आपको ऑनलाइन शॉपिंग से संबंधित जरूरी बातों की जानकारी होनी जरूरी है, जो नीते दी गई है।

ऑनलाइन शॉपिंग से लाभ

  1. एक आंकडे के अनुसार 2017 के अंत तक ऑनलाइन उपभोक्ताओं का आंकड़ा 10 करोड़ पार होने की संभावना है इसका मतलब साफ है कि लोग अब ऑनलाइनखरीदारी पर भरोसा कर रहे हैं और इस सुविधाओं का पूरा इस्तेमाल कर रहे हैं। बदलते समय के अनुसार ई-कॉमर्स कंपनियां बाजार के रेट से कम कीमत पर अपना सामान सीधे लोगों तक पहुंचाती हैं क्योंकि उनको बीच के किसी दुकानदार या अन्य किसी को उनका कमीशन नहीं देना होता है।

2. अब लोगों के पास एक से अधिक विकल्प उपलब्ध होते हैं और लोगों को इसका भरपूरफायदा भी मिलता है। जब कोई कंपनी अपने नए उत्पादों को लॉन्च करती है तो वह बाजार कीमत की तुलना में काफी कम कीमत पर लोगों तक पहुंचाती है। ई-कॉमर्स कंपनियों के कई उत्पाद तो ऐसे होते हैं जो सिर्फ ऑनलाइन ही खरीदे जा सकते हैं। इसलिए खरीदारी करते समय कुछ सावधानियों को अपनाकर आप छूट की लूट का आनंद उठा सकते हैं।

3. ऑनलाइन शॉपिंग से सबसे बड़ा लाभ यह होता है कि आपके समय की बहुत बचत होती है। आपको बाजार नहीं जाना होता, दुकानदारों के साथ दिमाग नहीं खपाना होता। आप घर पर ही बैठकर किसी भी वस्तु के एक से अधिक विकल्प का चयन कर सकते हैं और अपने मनचाहे समय पर उसे घर पर प्राप्त भी कर सकते हैं।

ऑनलाइन शॉपिंग से हानि

  1. हम सभी प्रायः समाचार पत्रों में यह खबर पढ़ते हैं कि किसी व्यक्ति ने किसी एप्प के जरिए किसी कंपनी की कोई मोबाइल खरीदी और जब प्रोडक्ट खरीदार के हाथ लगा तो पता चला कि वह साबुन की टिकिया थी। दरअसल कई तरह की फर्जी कंपनियां या कंपनियों की खराब व्यवस्था के कारण लोगों को इस तरह के नुकसान उठाने पड़ते हैं। उन्हें कुछ और सामान दिखाया जाता है तो भेजा कुछ और जाता है। ढगे गए लोग अपने आपको काफी कोसते हैं और जानकारी की कमी के कारण तथा प्रोडक्ट वापसी के लंबी प्रक्रिया के कारण लोग मौन रह जाते हैं। इसलिए जब कभी आपशॉपिंग कर रहे हों तो इस बात की पूरी सावधानी बरतें।

2.  ऑनलाइन प्रोडक्ट बेचने वाली या सुविधाएं प्रदान करने वाली कंपनियां प्रायः वस्तुओं की कीमत को सामान्य दरों की तुलना में कम बताती है। लोगों को लालच में फंसा कर कंपनियां अपना उल्लू सीधा करती हें। इसके कारण खरीदार बिना सोचे-समझे सामान खरीद लेते हैं और जब सामान उनके हाथ आता है तो अपने आपको ढगा हुआ महसूस करते हैं। इसलिए कभी भी इस तरह की लुभावन बातों में न फंसें।

3. कभी भी आपको कोई सामान खरीदना है तो हमेशा वस्तु के कोड एवं बिक्रेता की जानकारी जरूर रखें। कई बार ऐसा भी देखा गया है कि आपने कोई बहुत ही अच्छी सामान देखी और आर्डर कर दी लेकिन जब सामान घर पहुंचा तो वह असली जैसा नहीं था। अधिकांशतः ऐसा कपड़े, जूते या घरेलू सामानों के साथ होता है। इसलिए ध्यान रखें। वास्तव में कई फर्जी शॉपिंग कंपनियां भारत के बाहर से अपनी गतिविधियां संचालित करती है और उनके द्वारा ही ऐसा करने की संभावना होती हैं। यह कंपनियां लोगों की कमाई को ढग कर अपनी आमदनी बढ़ाती हैं।

4. ऑनलाइन शॉपिंग में आप तब तक नहीं ढगे जाएंगे जब तक अनजान व्यक्ति को आपके कार्ड की जानकारी न हो जाए। ऑनलाइन शॉपिंग करते समय हैकर द्वारा सिस्टम को हैकर कर जरूरी जानकारियां चुराने की भी संभावना होती है इसलिए आप अपने सिस्टम को एंटीवायरस और अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम से लैस रखें।

5. हैकर्सस्पैम मेल के माध्यम से भी लोगों की व्यक्तिगत जानकारियों को चुराते हैं। इसलिए खरीदारी करते समय यदि आपको इस तरह का कोई मेल मिले या अन्य अनचाहा रिक्वेस्ट मिले तो उसे स्वीकार नहीं करें और न ही उस साइट को नहीं खोलें।

6. आपको समय-समय पर अपने बैंक स्टेटमेंट की जांच करते रहना चाहिए।अगर जांच के दौरान किसी भी तरह की शंका हो तो तुरंत इसकी पुलिस या साइबर सेल को सूचना दें। इसके साथ ही शॉपिंग करते समय क्रेडिट कार्ड को प्राथमिकता दें क्योंकि बैंक क्रेडिट कार्ड के साथ जो गारंटी देता है, वह डेबिट कार्ड के साथ नहीं मिलती।

  1. कई लोग अपना पासवर्ड बहुत ही अपनी जन्मतिथि के अनुसार या बहुत ही साधारण रखते हैं, इससे हैकर्स को किसी जानकारी को पाने में परेशानी नहीं उठानी पड़ती। इसलिए हमेशा अपना पासवर्ड इस तरह का बनाएं, जिसका अनुमान हैकर्स लगा ही न पाए और पासवर्ड को हमेशा याद रखें। यदि आप अपना पासवर्ड भूल गए हैं तो ऑनलाइन शॉपिंग के समय’फॉरगेट पासवर्ड’ पर जाकर अपना पासवर्ड नया पासवर्ड बना सकते हैं। ज्यादातर पासवर्ड का गलत उपयोग लैपटॉप या आपके अन्य सिस्टम के खो जाने के कारण की जाती है। इसलिए बेहतर होगा कि आप हमेशा इन बातों का ख्याल रखें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here