नकली नोट का पता लगाने

कुछ समय पहले ही पूरा भारत एक नए बदलाव के सम्मुख हुआ है. नई करेंसी ने मार्केट में कदम रखा लेकिन जैसे ही ये लांच हुआ, बहुत सारी न्यूज़ आने लगी फेक पैसे के बारे में और उसे बचने के तरीके समझने के लिए भी जैसा हम सब जानते है |

इसके बाद ये बहुत ज़रूरी हो गया की आप सारी अफवाहों से दूर रहकर ये सीखे की असली और नकली नोटों में फर्क कैसे किया जाये | उसके कुछ आसान तरीके आपके लिए बताये जा रहे हैं जो आप को सहायता करेंगे असली और नकली नोटों में फर्क करने में |

वाटर मार्क

सभी असली नोट पर आपको वाटर मार्क दिखेगा. नोट की बाएं साइड पर, महात्मा गांधी जी की फोटो के ऊपर | ये बहुत ही हल्का होगा लेकिन आप अच्छे से समझ पाओगे |

सिक्योरिटी थ्रेड

ये भी आप को बहुत अच्छे तरीके से असली और नकली के अंदर फरक समझायेगा. ये थ्रेड महात्मा गांधी की फोटो के बाएं तरफ है, जिस पर भारत और आर.बी.आई. लिखा होता है. ध्यान रहे की 5 से 50 रुपये के नोट पर केवल भारत छपा होता है. इसलिए, सही तरीके से आप पहले कलर को देखिये, उसके बाद नोट को लीजिए |

ऑप्टिकल वैरिएबल इंक

500 रुपये और 2000 रुपये के नोटों पर रंग बदलने वाली इंक का उपयोग हुआ है. जब हम नोट को सीधा पकड़ते है तो हरा और इसे थोड़ा तिरछा करने पर हम नीले रंग का देख सकते है |

पहचान चिन्ह

20 रुपये और सभी मैं जो इससे ज्यादा मूल्ये के नोटों पर फ्लोरल प्रिंट के ठीक नीचे एक पहचान चिन्ह बना होता है | ये ख़ास तरह का निशान होता है जो सभी नोटों में अलग अलग आकार का होता है और वाटर मार्क के लेफ्ट में दिखाई देता है | 20 रुपये में ये वर्टिकल रेक्टेंगल, 50 रुप में चक्र, 100 रुपये में ट्राइऐंगल, 500 रुपये में गोल और 2000 रुपये में डायमंड शेप में होता है | आप सही तरीके से इन सब बताए गए तरीकों को परखिये और अपने पास सही नोट रखिये, ये बहुत जरुरी है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here