लू

गरमी के दिनों में गर्म हवा का झोका चलता है उसे लू कहते है लू से सभी लोग पीड़ित होते है,और अनेक तरह की बिमारियों से का सामना करना पड़ता है, बच्चे, बूढ़े हो या युवक कोई भी इनकी चपेट में आ सकते है इसलिए इन दिनों सभी उम्र के लोगों को अपना खास ख्याल रखना चाहिए।

“गरमी के दिन आते है,
हमको बहुत,सताते है
खेल नहीं हम पाते हैं
गरमी से घबराते हैं

लक्षण:: उकाई आना ,दस्त लगना, बुखार आना, सिर दर्द, थकान आदि ।

आप अगर लू से बचाव या निजात चाहते है तो इन बातों पर जरुर ध्यान दें-
१.धूप में निकलने से पहले ठंडी चीजों का सेवन करे
२.बेल का शरबत और सत्तू , लू से बचने में काफी मददगार साबित होते है।
३.ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ ले।
४.इस मौसम में शिकंजी,फालसी का जूस, मिल्क शेक आदि ले सकते है ।
५.आम का शरबत या आम पन्ना भी बनाकर पी सकते है।
क्या करें:
१. लू से बचाव के लिए धूप से आने के बाद उबले हुए आम का छिल्का हाथ की उंगलियों और पैर की उंगलियों और माथे पर रगड़े, जिससे धूप का असर और शरीर की गरमी बाहर निकल जाती है।
२.कच्चे प्याज का सलाद खाएं, जिससे लू नहीं लगती।
३.जब शरीर में लू की गरमी का ज्यादा असर हो तो हमें कोतीरा शव गोंद का सेवन करना चाहिए ।
कोतिरा एक ठंडा पदार्थ है और इसे थोड़े से पानी में भिगोकर फिर किसी भी शीतल पेय में ले सकते है।
क्या ना करे::
१.धूप से आने के तुरंत बाद पानी न पिए , थोड़ी देर रूककर पानी पिए।
२.तली -भुनी चिजो से परहेज करें।
३.शरीर में पानी की कमी न होने दें , ज्यादा खान पान की जगह तरल पदार्थ को प्राथमिकता दे।
इस प्रकार उप्रयुक्त बातों पर ध्यान देकर हम गरमी का डट कर मुकाबला कर सकते है और लू से बचाव कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here